अगर वो होता (हिंदी कविता) Agar Wo Hota (Hindi Poem)

अगर वो होता…

अगर वो होता

तो इन लबों पर

उदासियों की लहरे ना होती

अगर वो होता

तो ये राते यूँ तन्हा ना होती।

अगर वो होता तो

तो कहता तेरी

मुस्कानो में एक जादू है,

तेरे हर रूह में अजब-सी खूशबू है।

तेरा हँसना, तेरा रूठना

तेरी झुकी पलकों का

धीरे से उठना

तेरी हर अदा में

जान मेरी बस्ती है।

अगर वो होता

तो जिंदगी यूँ

बेजान न होती

अपनी भी एक दुनिया होती

और जिंदगी ये गुलज़ार सी होती।

🙏🙏🙏🙏

लेखक – सोनू कुमारी

0/Post a Comment/Comments