डिप्रेशन को कैसे ख़त्म करें ? | How to end depression in Hindi

How to end depression in Hindi

सर, मेरा नाम राहुल है मैं दिल्ली से हूँ, सर मैं जानना चाहता हूँ कि डिप्रेशन को कैसे ख़त्म करें ?  मुझे लगता है मैं डिप्रेशन का शिकार हो गया हूँ। मुझे कुछ भी अच्छा नहीं लगता, मेरा किसी काम में मन नहीं लगता, बस अकेले बैठे बैठे कुछ न कुछ सोचता रहता हूँ। ऐसा लगता है इस दुनियाँ में कोई किसी का नहीं है सब मतलबी है। सर क्या आप मेरा डिप्रेशन दूर कर सकते है ?    

- राहुल, दिल्ली से  


देखिये राहुल ऐसा है इस दुनिया में हर इंसान की लाइफ में परेशानियाँ है। कोई मोटा है तो पतला होने के लिए परेशान है, पतला है तो मोटा होने के लिए, किसी की शादी नहीं हो रही है, किसी का ब्रेकअप हो गया है, किसी को नौकरी नहीं मिल रही, किसी को गर्लफ्रेंड नहीं मिल रही , किसी की वाइफ का अफेयर चल रहा है, किसी का बिज़नेस में नुकसान हो गया है इसलिए परेशान है , कोई घर के खर्चे उठा उठा कर, क़िस्त भर भर कर परेशान है।     

और दुनिया के उन सभी इंसानो में आप भी हो। अब आपके डिप्रेशन की वजह आपने मुझे नहीं बतायी लेकिन फिर भी मैं आपको बता देता हूँ कि ज्यादातर लोगो को डिप्रेशन तब होता है जब वो खाली बैठे होते है या उनके पास रोजगार नहीं होता या फिर उनकी इनकम कम होती और उनके पास अच्छा पैसा नहीं होता।  

सबसे पहले तो एक बात की गाँठ बांध लो इस दुनियाँ में इज़्ज़त उसी की होती है जिसके पास पैसा होता है। और तुम डिप्रेशन में रहो या फालतू का सोचते रहो या अपना टाइम ख़राब करते रहो। तुम नुकसान अपना करोगे अपनी हैल्थ को खराब करोगे। अगर डिप्रेशन से बाहर निकलना है तो सबसे पहले खुद को व्यस्त रखना शुरू करो। और पैसा कमाने की सोचो, चाहे गर्लफ्रेंड हो, पत्नी हो, माँ-बाप हो या भाई बहन ये सब उन्हीं की तरफ ज्यादा आकर्षित होते है जो अच्छा पैसा कमाते है, और जो समय ख़राब करते है, उनकी इज़्ज़त कोई नहीं करता।   

अब आपको डिप्रेशन है, मतलब मानसिक तनाव जोकि आजकल बहुत ज्यादा बढ़ता जा रहा है। और डिप्रेशन बढ़ने का सबसे बड़ा कारण है ज्यादा सोचना यानी ओवर थिंकिंग, यदि आप सोचना कम कर देंगे तो आपका तनाव भी कम हो जायेगा और सोचना कम करने के लिए आपको अकेले रहना छोड़ना होगा। दोस्तों के साथ घूमना फिरना मस्ती करना शुरू करना होगा। 

अपने दिमाग को मजबूत बनाना होगा, खुद पर भरोसा करना होगा, पैसे कमाने के लिए रिस्क लेने होंगे। और आपको जीवन में ये सोचकर खुश रहना होगा कि कुछ लोगो की जिंदगी आपसे भी ज्यादा ख़राब है, किसी के पास रहने के लिए घर नहीं है, किसी की आँखे नहीं है। किसी का एक हाथ या एक पैर नहीं है। कोई बड़ी बीमारी से ग्रसित है।  

तो ये जीवन है इस जीवन में सबसे जरुरी हैं...  हम खुद, खुद को खुश रखना, और खुद के स्वास्थ्य का ख्याल रखना बहुत जरुरी है। उम्मीद करता आपको आपके सवाल का जवाब मिल गया होगा। अगर आपका कोई और सवाल है तो मुझे ishyamgautam@gmail.com पर मेल कर सकते है। ...धन्यवाद 

- Shyam

0/Post a Comment/Comments