डिप्रेशन क्या होता है – How to get rid of depression in Hindi

How to get rid of depression in Hindi : दोस्तों, Depression (डिप्रेशन) कोई बीमारी नहीं है, यह एक मानसिक अवस्था है। आइये पहचान करते उन लोगो की जिनमें डिप्रेशन होने के लक्षण नजर आते है।

डिप्रेशन के लक्षण | Depression symptoms in Hindi

ये वो लोग होते है,  जो खुद को अकेला महसूस करते है। ये शारीरिक एवं मानसिक रूप से कमजोर होते है। ये खुद को अंदर से खाली महसूस करते है। इन लोगो में आमतौर पर डर बना रहता है, और इन लोगो की सोचने समझने की शक्ति भी कम होती है। ये लोग ज्यादातर निराश रहते है। ये लोग हमेशा नकारात्मक (Negative) सोचते है | ये छोटी-छोटी बातो को दिल पर ले लेते है |

ये खुद को अपमानित महसूस करते है। इनका किसी काम में मन नहीं लगता।  इनका आत्महत्या करने का मन करता है। आपको समझ आ गया होगा की जिस व्यक्ति को डिप्रेशन है उसकी पहचान कैसे करे।

 

आइये अब जानते है… Depression (डिप्रेशन) को दूर कैसे करें? | Depression Se Bahar Kaise Nikle?

जो व्यक्ति डिप्रेशन से पीड़ित है उसे अकेला नहीं छोड़ना चाहिए,  हमेशा कोशिश करनी चाहिए कि उसका कोई मित्र बने. और किसी तरह से उसका अकेलापन दूर हो। डिप्रेस्ड व्यक्ति हमेशा अकेला रहना पसंद करता है, लेकिन हमे उसे अकेला नहीं छोड़ना चाहिए, क्यूँकि अकेले में वो अपने भूतकाल और भविष्य के बारे में अधिक सोचता है, और वर्तमान में जीना भूल जाता है।

डिप्रेस्ड व्यक्ति का मनोरंजन करे, उसे कॉमेडी फिल्मे दिखाए। गीत संगीत में उसका ध्यान लगाने की कोशिश करे।

डिप्रेस्ड व्यक्ति को हमेशा ये भरोसा दिलाये की वो एक बहादुर है। आमतौर पर हम लोग उनके साथ अच्छे से बात नहीं करते है, बात-बात पर उनको ताना मारते रहते है. इस वजह से उनके मन में ये बात बैठ जाती है, की वो कुछ नहीं कर सकते है। और इसका परिणाम ये होता है, की वो खुद को कायर समझने लगते है। और आत्महत्या करने वाली सोच उनके अंदर जन्म लेने लगती है। तो ध्यान रखे हमेशा उनसे प्यार से बात करे और उनका हौसला बढ़ाते रहे।

व्ययाम हम सब के लिए जरुरी है हम सबको ही करना चाहिए, लेकिन डिप्रेस्ड व्यक्ति को भी व्ययाम की आदत डलवानी चाहिए इससे उसे बहुत लाभ होगा।  अगर हम योग की बात करे तो इसके फायदे बहुत ज्यादा है. अगर डिप्रेस्ड व्यक्ति योग करना शुरू कर दे तो उसे Depression (डिप्रेशन) से जल्द ही छुटकारा मिल सकता है। 

दोस्तों डिप्रेशन कोई रोग नहीं है बस हमे थोड़ा जागरूक होना पड़ेगा क्यूंकि आज कल हम देख रहे है, छोटे बच्चे से लेकर बड़े सभी डिप्रेशन में चले जाते है। एग्जाम में नंबर कम आये तो, इंटरव्यू में असफल हो जाये तो, प्रेमिका से अलग हो जाये तो, यार हमने जिंदगी को जीना ही छोड़ दिया है।

दोस्तों, जिंदगी जीने के लिए मिली है इसे खुल के जियो। अपने काम के साथ साथ खुद के लिए भी समय निकालो। अपने दोस्तों से मिलो घूमो फिरो हँसी मज़ाक करो। खाओ पियो खुद को एंटरटेन करो।  फॅमिली के साथ समय बिताओ, सबसे प्रेम से बात करो, गुस्सा करना बिलकुल छोड़ दो। कोई भी ऐसा काम मत करो जिसकी वजह से किसी को दुःख पहुंचे, हमेशा अच्छे कर्म करो।  

– Shyam

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *