करवा चौथ क्यों मनाया जाता है? जानिए इसके पीछे की कहानी | Karwa Chauth 2021

Karwa Chauth 2021 : करवा चौथ एक पवित्र त्यौहार है। जो कार्तिक मास में मनाया जाने वाला त्यौहार है भारत में करवा चौथ बहुत ही महत्वपूर्ण है। जो हिन्दू महिलाएं अपने पति की लंबी उमर के लिए करवा चौथ का व्रत रखती है। यह व्रत पूरा दिन महिलाए रखती है और शाम को करवा चौथ की कहानी सुनती है। फिर रात के समय छलनी से पहले चंद्रमा को देखकर व अपने पति को देख कर उनकी लंबी उम्र की कामना करते हैं।

 

जानिए कौन थी मां करवा ?

पुराने समय में एक करवा नाम की स्त्री हुआ करती थीं। उनका पति काफी उमर का था। एक दिन की बात है वह नदी में नहाने के लिए जाते हैं। फिर एक मगरमच्छ आता है। उनका पैर अपने मुंह से पकड़ लेता है। उन्होंने अपनी पत्नी करवा को सहायता के लिए चिल्ला कर पुकारा और कहने लगे करवा बहुत पवित्र व बलशाली था।

फिर पति की रक्षा के नदी के तट पर सुत में से धागा निकालकर उस मगरमच्छ को बांधा और यमराज के पास लेकर चली गई। यमराज ने कहा देवी आप ये क्या कर रही है और आप क्या चाहती हैं?

 

करवा ने यमराज से विनती की।

करवा ने कहा यमराज से मेरे पति का पैर इस मगरमच्छ पकड़ लिया था ती आप ही इस मगरमच्छ को मृत्यु दंड दे दीजिए। और इसे नरक में डाल दो। फिर यमराज ने कहा नहीं मैं इस मगर को नहीं मार सकता। क्योंकि इसकी जिंदगी अभी और बाकी है। अगर आप यह नहीं कर सकते तो आप मगर को मार कर चिरायु कर वरदान नहीं देंगे तो में ही अपने तपोबल आपको वरदान दे दूंगी।

 

चित्रगुप्त ने दिया करवा को आशीर्वाद।

करवा की बात सुनकर साथ खड़े चित्रगुप्त ने करवा के सच को स्वीकार करके ना तो वह ना तो उसको शाप दे सकते थे ना ही उनके वचन को अनदेखा कर सकते थे। उन्होंने मगर को यमलोक भेज दिया और उनके पति को लंबी आयु का आशीर्वाद दिया। और उन्होने करवा के जीवन सुखी रहे ये भी आशीर्वाद दिया।

 

इस तरह हुई करवा चौथ की शुरुआत।

चित्रगुप्त ने कहा कि तुमने अपने पति की रक्षा अच्छी तरह की जिससे में बहुत खुश हुआ। कहा जो भी महिला इस दिन करवा का व्रत रखेगी। उसे सभी खुशियां मिलेगी। और पति की लंबी उम्र होगी। शाम को कथा जरूर सुननी चाहिए। अपने पति की लंबी उम्र के लिए करवा माता से मांगना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *