थ्रेडिंग कैसे करें – How to do threading in Hindi

How to do threading in Hindi : दोस्तों आज हम अपने इस आक्टिकल में आपको बताने वाले हैं कि कैसे आप किसी की भी थ्रेडिंग (Threading) कर सकते है वो भी घर बैठे – बैठे, बस बताई गई सभी बातों को ध्यान में रखें और फिर अभ्यास करते रहे. देखियेगा आप बहुत जल्दी थ्रेडिंग (Threading) करना सीख जाएंगे. फिर आप किसी की भी थ्रेडिंग (Threading) कर सकते हैं. कस्टमर की आईब्रो को उनकी पंसदीदा और फेस के अनुसार शेप देकर उन्हें खुश कर सकते हैं. ऐसे में वो अगली बार कही और न जाकर आपके पास ही आएगा.

तो आइए शुरु करते हैं थ्रेडिंग के बारे में बताना . सबसे पहले हम आपको बताएंगे फ़ॉर हैड के बारे में.

 

फ़ॉर हैड :

सामग्री – टेलकम पाउडर , रुई, थ्रेड का धागा.

विधि – फ़ॉर हैड करने के लिए 5-7 बार धागा उगंली में लपेटे फिर माथे के सारे बाल साफ करे फिर अंगूठे से माथे पर मसाज करें.,

सावधानी – सबसे पहले कस्टमर को कुर्सी पर बैठाए फिर उसके माथे पर टेलकम पाउडर लगाए और ध्यान दे , कि धागा उल्टी तरफ न लगे नही तो कट लगने कर डर रहता है.

लाभ – फ़ॉर हैड करने से माथे के सारे बाल साफ हो जाते हैं।

अभी हमने आपको बता दिया कि फ़ॉर हैड कैसे करें और अब बारी है यह जानने की थ्रेडिंग कैसे करें.

 

थ्रेडिंग (Threading) :

सामग्री – 40 रुपये का थ्रेडिंग धागा आयेगा वो ले, रुई, छोटी कैंची, टेलकम पाउडर, कोल्ड क्रीम , स्टेन्जर.

विधि – सबसे पहले आईब्रो पर पाउडर लगा दे फिर थ्रेड उंगली में लपेटे पांच या छः बार लपेटे और कोने से थ्रेड करना शुरू करे . फिर पकड़ने के लिए सीधी आंख की नीचे से उपर को और थ्रेड का धागा चलाए , फिर दूसरी आँख पर नीचे से उल्टे और सीधे से उल्टे की तरफ से साफ करे और कस्टमर को इच्छा- नुसार शेप दे फिर आइब्रो बन जाएंगी. तो फिर कोल्ड क्रीम से मसाज करें.

सावधानी –

  • थ्रेडिंग करते समय ध्यान दे कि कट न लगे.
  • यदि आइब्रो में कट या सूज जाए तो ऐस्ट्रोडोम / स्ट्रेंजर लगाए.
  • चेहरे पर आइब्रो लम्बी व मोटी झुकी हुई आइब्रो अच्छी लगती हैं.
  • आंखे अगर लम्बी मोटी हो तो आइब्रो छोटी नही होनी चाहिए.
  • अंडकार के चेहरे पर आंखों की लंबाई बराबर आइब्रो होनी चाहिए. यह सुंदर लगती है.

दोस्तों अब में आपको बताने वाली हूं कि आप अपनी और दूसरों की आइब्रो की शेप कैसे दे सकते है और आपने भी आइब्रो, फ़ॉर हैड, उपर लिप्स, और गालो पर से एक्स्ट्रा बाल कैसे निकल सकते है।

सेली थ्रेडिंग :

सामग्री – 40 नाड का धागा ले, टेलकम पाउडर , कैंची, रुई , कोल्ड क्रीम.

अपनी आइब्रो के एक्स्ट्रा बालो को स्वयं निकालने की प्रक्रिया को सेली थ्रेडिंग का समान है ( ऊपर जो विधि बताई गई है वैसे ही निकाल सकते है अपनी भी )।

 

शेप :

जैसे कि हम सब जानते है कि किसी के भी फेस पर एक सा आइब्रो शेप अच्छा नही लगता . वैसे ही सबका चेहरा एक सा नही होता. इसलिए जरूरी है कि हमे यह पता हो किस तरह के चेहरे पर कैसा शेप देना चाहिए आइब्रो बनते समय, और अब हम आपको बताएंगे कि आपको किस चेहरे के लिए कैसा शेप यूज़ करना है. जिससे आप का लुक चेंज हो जायेगा और आप का निखार निखर के बाहर आएगा.

* थ्रेडिंग निम्न जगह पर हो जाती हैं जैसे –

आइब्रो

फ़ॉर हैड

उपर लिप्स

गालो पर

 

* चेहरे का शेप –

आकार वाले चेहरे पर : आइब्रो छोटी (आंखों के बराबर आगे से मोटी तथा पीछे में पतली बनानी चाहिए)।

गोल चेहरे पर : आइब्रो आगे और पीछे दोनों तरफ से झुकी हुई आधी गोलाकार बनानी चाहिए।

चोकोर चेहरे पर : आइब्रो पीछे से झुकी हुई आगे से बनानी चाहिए।

तिकोने चेहरे पर : आइब्रो लम्बी होनी चाहिए।

 

तो दोस्तों आपको मेरा ये आर्टिकल कैसा लगा कंमेन्ट बॉक्स में कंमेन्ट करके जरूर बताएं. साथ ही बताए गए सभी सावधानी का ध्यान रखते हुए इसकी प्रैक्टिस करें आप इसकी प्रैक्टिस अपने पैर पर अगर करेगे तो ज्यादा बेहतर होगा. इससे आपको यह पता चल जाएगा कि आपका धागा तेज तो नही चल रहा और धागा चलने पर कट लग रहा है या नही.

अतः में यह ही कहूंगी एक बार अवश्य करके देखें और सावधानी को भी ध्यान में रखें, ताकि आपको कोई समस्या न हो.

(ज्योति कुमारी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *