बर्ड फ्लू से बचने के उपाय – What is Bird Flu in Hindi

What is Bird Flu in Hindi : आज हम अपने इस आर्टिकल में आपको बताने वाले हैं बर्ड फ्लू (Bird Flu) के बारे में. और साथ ही आप ये भी जानेंगे कि बर्ड फ्लू (Bird Flu) कैसे होता है, इसके क्या क्या लक्षण है, इसमें क्या क्या सावधानियाँ बरतनी चाहिए?. जब बर्ड फ्लू हो तो क्या करना चाहिए? इसके क्या उपाय है आदि इस सब की जानकारी हम आपको अपने इस आक्टिकल मे देने वाले हैं.

जिससे आप इस बीमारी को होने से पहले अपना बचाव कर सकते हैं और यदि हो जाये तो अपने आप को कैसे ठीक कर सकते हैं. बर्ड फ्लू (Bird Flu) का खतरा हमारे देश में पहले भी आ चुका है और यह फिर से आया है. इस बार को मिलाकर यह चौथी बार हमारे देश में आ गया है. तो आइए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से……

 

बर्ड फ्लू क्या है?

बर्ड फ्लू एक ऐसी संक्रमित बीमारी है. जो इन्फ्लूएंजा टाइप ए वायरस की मदद से लोगों में फैलता है. इस वायरस को एवियन इन्फ्लूएंजा भी कहते हैं. यह वायरस खासतौर पर चिकन, कबूतर आदि इन पक्षियों में पाया जाता है.

बर्ड फ्लू से बचने के उपाय

बर्ड फ्लू की परिभाषा

बर्ड फ्लू (Bird Flu) जिसे एवियन इन्फ्लूएंजा भी कहा जाता है. यह वायरस कोरोना वायरस के मुकाबले अधिक घातक है. इस वायरस के बहुत सारे स्ट्रेन है. जिसमे से कुछ बहुत माइल्ड होते हैं तो कुछ बहुत ज्यादा संक्रामक होते है. इस कारण बहुत ज्यादा पक्षी के मरने का भी खतरा बढ़ जाता है. इन्फ्लूएंजा वायरस 11 प्रकार के होते हैं. जो लोगों को सिर्फ बीमार करते हैं लेकिन इनमें से 5 वायरस ऐसे होते हैं. जो लोगों के लिए जानलेवा साबित हुए हैं जैसे – H5N1, H7N3, H7N7, H7N9 और H9N2. बर्ड फ्लू (Bird Flu) पक्षियों के माध्यम से ही मनुष्य में फैलता है. इस वायरस को एचपीएआई भी कहा जाता है. इन सब वायरस में से H5N1 सबसे ज्यादा घातक है.

 

जानिए इंसानों में कैसे फैलता है ?

यह वायरस इंसानों में पक्षियों के माध्यम से फैलता है. इस पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी पूरे मद्दे पर आपात बैठक कर इस पर विचार विमर्श किया है. इस बैठक में कई मंत्री और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी शामिल हुए. बर्ड फ्लू (Bird Flu) एवियन इन्फ्लूएंजा नाम के वायरस से फैलता है और इस वायरस के संक्रमण जानवरो और पक्षियों से इंसानों में फैलता है. जब लोग इन का सेवन करते हैं.

 

मांसाहार पर रोक लग सकता है ?

यह बीमारी जानवरों और पक्षियों के सेवन करने से लोगों में फैलती है खासतौर पर मुर्गियों, कबूतर आदि से ज्यादा फैलता है. अभी देश में फिर से बर्ड फ्लू (Bird Flu) फैल रहा है और 3 जनवरी तक इंदौर में 155, मंदसौर में 100, आगरा और मालवा में 112 तो खरगोन में 13 कौए मरे हुए प्राप्त हो चुके हैं. अब यह आंकड़े धीरे धीरे बढ़ रहा है. इन सब को देखते हुए मध्यप्रदेश सरकार ने कहा है कि जरुरत पड़ी तो मांसाहार पर रोक लगाई जा सकती है. यह तक कि मध्यप्रदेश की सरकार पूरी तरह से सावधानी बरत रही है और अलर्ट भी है.

 

कोरोना की तुलना, बर्ड फ्लू कैसे ज्यादा घातक है?

बर्ड फ्लू (Bird Flu) कोरोना वायरस से भी ज्यादा घातक है क्योंकि इस बीमारी में लोगों की मृत्यु कुछ ही दिनों में हो जाती है. विशेषज्ञ ने भी इसे कोरोना वायरस से कई गुना ज्यादा खतरनाक वायरस बताया है. कोरोना और बर्ड फ्लू (Bird Flu) वायरस दोनों ही इंसानों के अंदर सांस लेने के माध्यम से जाता है और हमारे श्वसन तंत्र को क्षति पहुचता है. इसलिए यह वायरस कोरोना की तुलना में अधिक घातक है.

 

बर्ड फ्लू के लक्षण : बर्ड फ्लू को पहचानने के कई सारे लक्षण है जैसे –

खांसी या सुखी खांसी

गले में खराश

बंद नाक या नाक बहना

थकान

सिरदर्द

ठंड लगना

तेज बुखार

जोड़ो में दर्द

मांसपेशियों में दर्द

गले में दर्द

नाक से खून बहना

सीने में दर्द

यह सब बर्ड फ्लू (Bird Flu) के लक्षण है यदि यह किसी भी व्यक्ति में दिखे तो तुरंत उसे डॉक्टर के पास लेकर जाए क्योंकि ऐसे मरीजों को डॉक्टर की देख रेख में ही रहना चाहिए और जब अच्छे से ठीक हो जाये तभी छुट्टी लेकर घर लाना चाहिए.

बर्ड फ्लू (Bird Flu) से बचाव का तरीका : इससे बचाव के बहुत ही साधारण से उपाय है जिसे अगर आप अपना ले तो इस वायरस से बचा जा सकता है जैसे –

  • जब तक हमारे देश की सरकार इस वायरस को नियंत्रित करने का कोई उपाय न ढूढ़ ले तब तक मांसाहार न करें.
  • मांसाहार करे तो उसे अच्छे से पक्का ले तभी करे.
  • समय समय पर अपने हाथ को धोएं.
  • सेनिटाइजर करते रहे अपने हाथों और अपने बाहरी सामानों को.
  • मांस साफ सुथरा ओर लाइसेंस वाली दुकानों से ही लाए.
  • जानवरो ओर पक्षियों के संपर्क में आने से बचें.
  • बर्ड फ्लू का लक्षण दिखते ही अपने या किसी और में तो तुरंत डॉक्टर के पास जाए.

 

बर्ड फ्लू (Bird Flu) अब तक चार बड़े पैमाने पर फैल चुका है और 60 से भी ज्यादा देशों में बर्ड फ्लू वायरस माहामारी का रूप भी ले चुका है. भारत में बर्ड फ्लू के आने से कई राज्यों में अफरा तफ़री मच गई है. मध्यप्रदेश में सबसे ज्यादा बर्ड फ्लू के केस सामने आए हैं और केरल में तो जहां जहां यह केस सामने आए हैं वहाँ के एक किलोमीटर के दायरे में जितने भी मुर्गी, कौए, कबूतर और बत्तख है उन सभी को मार दिया जा रहा है ताकि यह ओरो में न फैले.

भारत सरकार के अनुसार राजस्थान, मध्यप्रदेश, हिमाचल प्रदेश, केरल बर्ड फ्लू की पुष्टि की जा चुकी है. ऐसे में भारत सरकार ने एक नियंत्रित कक्ष बनाया है जिससे देश में बर्ड फ्लू के आ रहे मामलों पर नज़र रखी जा सके और समय रहते उन उन जगहों पर सही कदम उठाए जा सके. भारत सरकार राज्य सरकारो के साथ मिलाकर और भी जरूरी कदम उठा रही है.

आशा करती हूं कि आपको यह आर्टिकल पंसद आएगा और इसमें बताये गए बचाव को आप जरूर अपनाएंगे. आपको यह आर्टिकल कैसा लगा आप हमें कंमेन्ट बॉक्स में कंमेन्ट कर के बता सकतें है.

(ज्योति कुमारी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *