चाणक्य के अनमोल विचार – Chanakya Niti in Hindi

(चाणक्य निति) Chanakya Niti in Hindi :  चाणक्य महान विद्वान थे। जिन्होंने अपने अर्थशार के माध्यम से लोगों को अपने विचार नीति से प्रभावित किया। आज भी चाणक्य के बताई गई नीति बहुत ही लोगो के काम आती है। इन्होने अपने शब्दो को इस प्रकार बताया है कि कमजोर से कमजोर इंसान इनकी नीति को पढ़ कर आत्मविश्वासी जरूर होगा।

चाणक्य जो विष्णुगुप्त व कौटिल्य के नाम से भी जाने जाते हैं। इन्होने ही अर्थशास्त्र नीतिशास्त्र की व्याख्या की थी। और यह शास्त्र चाणक्य नीति के नाम से प्रसिद्ध है। इनकी नीति कितनी ही पुरानी क्यूं न हो लेकिन आज भी उतनी ही जटिल व सटीक साबित होती है। चलिए दोस्तो जानते हैं चाणक्य के अनमोल विचारों को जो आपकी ज़िन्दगी में बदलाव लाने में मददगार साबित होंगे।

 

पढ़े… चाणक्य के अनमोल विचार (Chanakya Niti in Hindi) 👇 

1. जो मेहनती है। वह मनुष्य कभी गरीब नहीं हो सकता। जो हमेशा ईश्वर को याद करते हैं उनमें किसी तरह का पाप नहीं होता। और वह मनुष्य दिमाग से जागा हुआ होता है। जो बिल्कुल निडर होता है।

2. विद्या ही वह धन है जो निर्धन का धन होता है, और यह ऐसा धन होता है। जिसे कभी कोई चुरा नहीं सकता और इसे जितना बाँटोगे उतना ही बढ़ता जाएगा।

3. किसी भी कार्य को करने से पहले खुद से यह सवाल करे, कि में यह क्यूं कर रहा हूं, इसका परिणाम क्या होगा , क्या मुझे इसमें सफलता हासिल होगी?  यह सब सोचने पर अगर आपको सही जवाब मिल जाए,  तो समझ लीजिए आप सही दिशा की ओर है।

4. जो इंसान श्रेष्ठ होता है। वह सबको एक समान मानता है।

5. कभी भी अपनी कमजोरियां दूसरो को नहीं बतानी चाहिए, ये आपके लिए ही अहितकारी हो सकता है।

6. आलसी मनुष्य का ना तो वर्तमान का पता लगता न ही भविष्य का पता चलता।

7. भाग्य भी उसी का नजर आता है। जो कठिन से कठिन परिस्थिति में भी अपने लक्ष्य के प्रति जागरूक रहते हैं।

8. संकटकाल में हमेशा बुद्धि की ही परीक्षा होती है। और बुद्धि ही हमारे निरंतर काम आती है।

9. एक ही देश के शत्रु परस्पर मित्र होते हैं। उनमें घनिष्ट सम्बन्ध होता है।

10. मन में सीचे हुए कार्य को किसी के सामने व्यक्त करने से अच्छा है उस कार्य को मन में रख कर ही पूरा करना चाहिए।

11. यदि आपके जीवन में कोई परेशानी नहीं है। फिर भी आप सचेत रहे। मुसीबतों को अपनी जिंदगी में आने न दे। यदि आपके जीवन में कोई परेशानी आ भी जाती है तो उस परेशानी से जल्दी बाहर निकलने की कोशिश करे।

12. ऐसे लोगो की मदद करना बेहद खराब है। जो हमेशा नकारात्मक रहते हैं। क्यूंकि हमेशा उनकी बुद्धि नकारात्मक रहने से खुद को अपनी वर्तमान स्थिति को या फिर आपको सभी को दोषी मानकर उदास रहते हैं और अपने लक्ष्य से पीछे हटने लगते हैं।

13. अगर कोई बुद्धिमान व्यक्ति किसी मूर्ख व्यक्ति को समझने का प्रयास कर रहा है, तो इसका मतलब यह है कि वह खुद के लिए परेशानी खड़ी कर रहा है।

14. हमेशा खुश रहना दुश्मनों के दुखो का कारण बनता है, और उनका खुश रहना उनके लिए सबसे बड़ी सजा है।

15. इंसान हमेशा अपने गुणों के कारण ऊंचा होता है, ऊंचे स्थान पर बैठने से इंसान ऊंचा नहीं हो जाता।

16. दूसरे इंसान के धन का लालच करना ही नशे का कारण बन जाता है।

17. शिक्षा ही हमारा सबसे बड़ा मित्र है। क्यूंकि शिक्षित मनुष्य का हर जगह आदर-सम्मान होता है।

18. जिस प्रकार सर्प के फ़न में और बिच्छू के डंक में विष होता है, उसी प्रकार एक बुरे व्यक्ति के दिमाग़ में भी विष भरा होता है।

19. किसी भी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए किसी भी शत्रु का साथ नहीं लेना चाहिए। वरना हमें उसके सामने जीवन भर झुकना पड़ता है।

20. फूलों की सुगंध जिस तरह हवा में फैलती है, उसी प्रकार अच्छे मनुष्य की अच्छाई चारो दिशा में फैलती है।

21. मनुष्य को कभी भी अतीत के बारे मैं सोच कर पछताना नहीं चाहिए। ना ही भविष्य के बारे मैं चिंता करनी चाहिए। विवेकशील व्यक्ति हमेशा वर्तमान में जीता है।

22. मनुष्य को दूसरो की गलतियों से भी सीखते रहना चाहिए। क्यूंकि अपने ही ऊपर प्रयोग करने से उम्र कम पड़ सकती हैं।

23. भाग्य पहले से ही लिखा जा चुका है। तो कोशिश करने से क्या होगा? क्या पता किस्मत में लिखा हो कोशिश करने से मिलेगा।

24. नसीब को मान कर चलना। अपने खुद के पैरो पर कुल्हाड़ी मारने की तरह है। ऐसे इंसान को बर्बाद होते समय नहीं लगता है।

25. अच्छा आचरण ‘दुःखो’  को मिटाता है। विवेक ‘अज्ञान’ को मिटाता है। अधिक जानकारी ‘भय’ को मिटाती है।

🙏🙏🙏🙏

ये भी पढ़े 👇

सम्राट अशोक जीवनी (Samrat Ashoka Hindi biography)

सावित्री बाई फुले जीवनी (Savitribai Phule Biography in Hindi)

डॉ. भीम राव अम्बेडकर जीवनी (Ambedkar Hindi Biography)

गौतम बुद्ध जीवनी (Gautam Buddha Hindi Biography)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *