Job Kare Ya Business | नौकरी करे या बिज़नेस शुरू करे।

Job Kare Ya Business : हेल्लो दोस्तों आज के आर्टिकल में आपको बताने वाली हूं कि आप जॉब करें या बिज़नेस ? आज के समय में हमारी युवा पीढ़ी को यह समझ नहीं आता कि जॉब व बिज़नेस में से वे क्या करें? साथ ही वह बहुत दुविधा में रहते हैं कि वह अपने कैरियर को लेकर क्या चुने। जॉब करें या बिज़नेस क्यूंकि उन्हें सही से इस बारे में जानकारी नहीं होती।

 

दोस्तो आप सभी जानते भी है कि आज के समय में हमें सक्सेस होना कितना जरूरी हो गया है। हालाकि आपको यह भी जान लेना चाहिए कि आपके लिए जॉब करना बेहतर है या फिर बिज़नेस आज के आर्टिकल में आपको जॉब और बिज़नेस में अंतर का पता चलेगा। इसी हिसाब से आपको इस आर्टिकल को पढ़ कर आप अपना विकल्प पहचान सकते हैं। कि आपको सक्सेस जॉब से हासिल करनी है या बिज़नेस के माध्यम से क्यूंकि अधिकतर लोगों को इस बारे में सही से जानकारी नहीं होती कि जॉब व बिज़नेस में क्या अंतर है। तो चलिए जानते हैं दोनों के बीच क्या अंतर है?

नौकरी क्या है? | What is job in Hindi 

प्राइवेट नौकरी के बारे में | About Private Jobs in Hindi

वैसे तो आपको भी जॉब के बारे में पता होगा। लेकिन फिर भी में आपको बता देती हूं कि जॉब वह निजी पेशेवर होता है  जिसमें हम किसी कंपनी में किसी एक व्यक्ति के अंडर काम करते हैं। फिर चाहे वह प्राइवेट कंपनी या कोई प्राइवेट स्कूल इत्यादि हो सकता है। अगर हम इस जगह कम करते हैं तो हमें हर महीने निर्धारित वेतन मिलता है। और अगर हम किसी प्राइवेट कंपनी में लगातार काम करते हैं तो हमारी पोस्ट बढ़ती रहती है। जॉब में आपको अपने निर्धारित समय तक काम करना होता है। आपको अपने ओनर के मुताबिक जॉब में सभी काम करना पड़ता है। 

सरकरी नौकरी के बारे में | About sarkari job in Hindi

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि आज के समय में अधिक लोग सरकारी नौकरी करना चाहते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि हम एक सरकती पेशावर बन जाते है । केक्यूंकि सरकती नौकरी में सभी काम सरकार के बने रूल के हिसाब से होता है। कर सरकारी नौकरी में अधिक वेतन भी प्राप्त होता है। साथ ही बहुत सारी सुविधाएं भी दी जाती थी। इसलिए ज्यादातर लोग सरकारी नौकरी पाना चाहते हैं।

बिज़नेस क्या है | What is business in Hindi

दोस्तो बिज़नेस वह होता है। जिसमे आपको किसी भी प्रकार की शॉप फैक्ट्री आदि। कामो से खुद का पैसा लगा कर शुरू करना पड़ता है। अगर आप किसी भी प्रकार का एक काम स्टार्ट करते हैं तो आपको इसमें फायदा व नुकसान दोनों झेलना पड़ता ह। क्यूंकि बिज़नेस ही एक ऐसा तरीका है। अगर इसमें पूरी योजना बना कर मेहनत की जाए तो इसमें इंसान सफल हो कर ही रहता है। इसलिए अपने देखा भी होगा। बिज़नेस करना वाला एक  अच्छी लाइफ ही जीता है। साथ ही अपने सपने भी पूरे करता है। 

नौकरी व बिज़नेस में अंतर क्या है | Difference between job and business in Hindi

नौकरी व बिज़नेस में यह अंतर होता है कि आपको अगर नौकरी  में अच्छी कंपनी में आप काम कर रहे हैं तो इसमें आपका भविष्य बन जाता है। क्यूंकि प्राइवेट कंपनी में समय समय पर सेलरी व प्रमोशन होता रहता है। साथ ही सरकारी नौकरी में भी आपका भविष्य बन जाता है। लेकिन अगर आप कोई छोटी नौकरी करते है तो ना उसमे आपको फायदा होता है ना ही आपका भविष्य बन पाता है।

दूसरी तरफ अगर बात करें बिज़नेस की तो उसमे इंसान खुद का मालिक होता है अपने हिसाब से वह अपनी कंपनी को ग्रो करता है। इसलिए इंसान खुद का बिज़नेस करने में ज्यादा फायदा उठा पाता है। देखा जाए तो अधिकतर बिज़नेस मेन कम पड़े लिखे होकर भी सक्सेसफुल इंसान बन जाते है। ऐसा इसलिए होता है कि उनकी सोच कुछ बड़ा करने की होती है। तभी वह आगे बढ़ जाते हैं वहीं दूसरी और नौकरी करने वाले पढ़ लिख कर भी ज्यादा कमियाव नहीं हो पाते। यह सिर्फ सोच का फर्क होता है। 

निष्कर्ष 

दोस्तो आपकी सोचने समझने की आदत ही आपको कामियाब बनाती है। साथ ही आपको आपकी मेहनत के हिसाब से ही कामियाबो हासिल होती है। आप इस आर्टिकल में जान ही चुके होंगे की नौकरी व बिज़नेस में क्या अंतर है नौकरी व बिज़नेस क्या है। और आपको क्या करना चाहिए। 

अगर दोस्तो आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो कमेंट करके जरूर बताएं। क्योंकि आपका एक कमेंट ही हमें इसी प्रकार के अच्छे आर्टिकल लिखने के लिए पूरी शक्ति व सहायता करते हैं। क्योंकि आप लोगो का साथ व प्यारे हमें आगे बढ़ने की उम्मीद देती हैं। इसलिए आप सबको मेरे लिखे आर्टिकल को पढ़ कर खुद ही एक सक्सेसफुल इंसान व एक बेहतर लाइफ दें। यही मेरी सबसे बड़ी कोशिश रेहेंगी आप सभी के प्रति बाकी खुश रहे मेहनत करे जिंदगी को इंजॉय के साथ जीएं।

             -जैनब खान

Leave a Reply

Your email address will not be published.