लव मैरिज के फायदे और नुकसान | Advantages and disadvantages of love marriage in Hindi

लव मैरिज (love marriage) आजकल की युवा पीढ़ी के लिए बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण हो गई है। हर एक युवा पीढ़ी का लव मैरिज करना सपना भी बन चुका है। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि लड़का हो या लड़की दोनों को अपनी पसंद का पार्टनर मिल जाता है। अरेंज मैरिज लोग इसलिए नही करते क्योंकि उन्हें एक दूसरे के साथ घुलने-मिलने में टाइम लग जाता है।

 

चलिए दोस्तों जानते है, लव मैरिज (love marriage) के फायदे और नुकसान

लव मैरिज के फायदे

  • जात-पात को लव मैरिज में महत्व नही दिया जाता। और लव मैरिज में लड़का-लड़की दोनो अलग जाति के भी हो सकते हैं। और वह सामाजिक रीति रिवाजों को कम मान्यता देते हैं। दोनो की सोच भी रूढ़िवादी नही होती है। लव मैरिज में दहेज जैसी कुप्रथा को भी ज्यादा महत्व नही दिया जाता है। 

 

  • लव मैरिज (love marriage) का एक फायदा ये भी होता है, कि लड़का-लड़की दोनों को अपनी पसंद का पार्टनर मिल जाता हैं। दोनो को एक दूसरे का भरपूर सहयोग मिलता है। और दोनों अपनी मर्जी से सारे फैसले लेते है। दोनों में प्रेम भी बहुत होता है। इस वजह से लोग लव मैरिज को ज्यादा बढ़ावा देते हैं।

 

  • लव मैरिज में एक दूसरे पर भरोसा बहुत ज्यादा होता है, क्योंकि दोनों एक दूसरे को अच्छी तरह जानते है और एक दूसरे की कमियों के बारे में भी जानते हैं। और अच्छी बुरी आदतों को भी जानते हैं, इसलिए दोनों में भरोसा बहुत होता है। अगर किसी कारण झगड़ा भी हो जाता है, तो आपस में वह उस झगड़े को खत्म कर देते हैं।

 

  • लव मैरिज में अक्सर लड़का लड़की एक दूसरे का काम मे भी हाथ बटाते है। और लड़की को भी घर से बाहर नौकरी करने की आजादी मिल जाती है। जिससे दोनों का भविष्य बहुत ही अच्छा होता है। जिससे दोनों अपने हर सपने को पूरा करते हैं। और किसी प्रकार की परेशानियों का सामना नही करना पड़ता है।

 

  • लव मैरिज (love marriage) में दोनों को किसी भी तरह की रोक-टोक नही होती हैं। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि लड़का-लड़की एक दूसरे को पहले से ही जानते हैं। दोनो को एक दूसरे की पसंद न पसंद का पता होता है। जिसके कारण वह अपनी लाइफ पूरी आजादी के साथ बिताते हैं। और वह एक दूसरे को किसी भी तरह की रोक-टोक नही करते हैं।

लव मैरिज करने के नुकसान

  • लव मैरिज का सबसे बड़ा नुकसान यह होता है कि शादी के बाद माता-पिता का सहयोग पूरी तरह से नही मिल पाता है। बहुत से माता-पिता लव मैरिज करने वालो को घर में भी नही रखते हैं। ऐसे में लड़का-लडक़ी दोनो को काफी सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

 

  • घर के बड़े-बूढ़े बच्चों को अच्छे संस्कार देते है। लेकिन लव मैरिज (love marriage) में अक्सर परिवार वालो से दूर रहना पड़ता है। जिसकी वजह से बच्चो की परवरिश में कमी हो जाती है। बच्चों का विकास सही प्रकार से नही हो पाता है। क्योंकि बच्चे अपने नाना-नानी, दादा-दादी से और भी परिवार जनों से नही मिल पाते और उन्हें उनका प्यार भी नही मिल पाता। 

 

  • भारतीय समाज में शरू से ही शादी घरवाले तय करते है। इसलिए लव मैरिज (love marriage) में कपल्स को समाज में सम्मान नही मिलता है। जगह-जगह उनकी बुराइयां होती है। औऱ समाज वाले उन्हें हीन दृष्टि से देखते है। समाज में दोनों को बहुत ज्यादा अपमान झेलने पड़ते हैं। और दोनों किसी से नजर भी नहीं मिला पाते है।

 

  • लव मैरिज में शादी लड़का-लड़की दोनो की मर्जी से हुई है। इस बीच अगर लड़का-लड़की के बीच झगड़े होते है। तो झगड़ो को ख़त्म करने में माता पिता या किसी और का सहयोग नही मिल पाता। और वे दोनों एक दूसरे से अलग हो जाते है। और उनका रिश्ता खत्म हो जाता है।
– जैनब

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *